मेनराय दंपति – सनातन की एक आदर्श दंपति !

पूज्य भगवंत मेनराय और पूज्य सूरजकांता मेनराय का कुछ महीनों से सनातन के रामनाथी, गोवा आश्रम में निवास रहा है । आश्रम में नए होकर भी वे आश्रमजीवन से शीघ्र एकरूप हो गए हैं । मेनराय पती-पत्नी के अनेक सद्गुणों का हुआ दर्शन इस लेख में शब्दबद्ध किया है ।

शारीरिक कष्ट होते हुए भी सहजावस्था में रहनेवाले पू. भगवंतकुमार मेनरायजी !

हिन्दू धर्म में श्रावण का माह वर्ष में विशेष महत्त्व रखता है । इसी माह में नागपंचमी की शुभतिथि पर शिवभक्त पू. भगवंतकुमार मेनरायजी का जन्म हुआ है ।

पू.(श्रीमती)सुशीला मोदी भाभी की ध्यान में आई कुछ गुणविशेषताएं !

मोदीभाभी पाक्षिक सनातन प्रभात का वितरण करना,पाक्षिक के लिए विज्ञापन लाना,विद्यालयों में सनातन बहियां तथा क्रांतिकारियों की प्रदर्शनी पहुंचाने के लिए प्रयत्न करना,अधिकाधिक लोगों तक सनातन पंचांग पहुंचाना,ऐसी अनेक सेवाआें में निरंतर व्यस्त रहती हैं ।

सनातन के दो साधक संतपद पर हुए विराजमान !

पू. (कु.) रेखा दीदी की प्रगति के लिए कारणभूत उनके निरपेक्ष प्रेम और गुरु का आज्ञापालन करने की लगन आदि गुणों के दर्शन श्रीरामनवमी के दिन उपस्थित जनसमुदाय को हुए ।