हिन्दू राष्ट्र के प्रेरणास्रोत परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी के मार्गदर्शन में निर्मित ईश्‍वरीय राज्य की प्रतिकृति सनातन आश्रम

परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी के निवास से पावन हुए सनातन के रामनाथी, गोवा स्थित आश्रम में अनेक साधकों को चैतन्य, आनंद एवं शांति की अनुभूति होती है । आश्रम का स्व-अनुशासन, कुशल योजना, प्रेमभाव आदि के कारण आश्रम भावी ईश्‍वरीय राज्य की प्रतिकृति लगता है । यह आश्रम ईश्‍वरीय राज्य की स्थापना, अध्यात्म विश्‍वविद्यालय, सर्वांगस्पर्शी ग्रंथ-निर्मिति, सूक्ष्म जगत सम्बन्धी शोध आदि अनेक कार्यों का केंद्र है ।

साधकों में सद्गुणों का संवर्धन करनेवाला आश्रमजीवन !


अधिक जानकारी हेतु पढें 

जीवन की प्रत्येक कृति का एकमात्र उद्देश्य – साधना


अधिक जानकारी हेतु पढें 

सामाजिक एकता का प्रतीक एवं राष्ट्ररक्षा, धर्मजागृति के कार्य का ऊर्जास्रोत हैं सनातन आश्रम !


अधिक जानकारी हेतु पढें 

आध्यात्मिक प्रगति हेतु पोषक वातावरण !

अधिक जानकारी हेतु पढें 

हिन्दू-संगठन एवं हिन्दू राष्ट्र की स्थापना का दिशादर्शक केंद्र !


अधिक जानकारी हेतु पढें 

बुद्धिअगम्य जगत का अभूतपूर्व आध्यात्मिक शोधकार्य !


अधिक जानकारी हेतु पढें 

आश्रम की बढती सात्त्विकता की प्रतीति देनेवाले दैवी परिवर्तन !


अधिक जानकारी हेतु पढें 

सनातन आश्रम में अवश्य पधारें !

हिन्दू धर्म की सीख है, वसुधैव कुटुम्बकम् । (अर्थात पूरी पृथ्वी ही एक परिवार है ।) आप जैसे साधकजन तथा राष्ट्र एवं धर्म प्रेमी हमें सनातन परिवार के सदस्य ही प्रतीत होते हैं । आप सनातन आश्रम में पधारकर यह आत्मीय संबंध दृढ करने का अवसर प्रदान करें । साथ ही, सनातन के राष्ट्र एवं धर्म कार्य में भी सम्मिलित हों । आइए, विश्‍वकल्याण हेतु ईश्‍वरीय राज्य की स्थापना का सर्वोच्च ध्येय संगठित रूप से साकार कर, शीघ्र ईश्‍वर के आशीष प्राप्त करें !

How to reach Sanatan Ashram?

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”