नालासोपारा प्रकरण में प्रविष्ट किए गए आरोपपत्र के विषय में सनातन संस्था की भूमिका !

नालासोपारा स्फोटक प्रकरण में कल मुंबई आतंकवाद विरोधी पथक ने (‘एटीएस’ ने)आरोपपत्र दर्ज करने  जो प्रसिद्धिपत्रक प्रसिद्ध किया है, वह अत्यंत हास्यास्पद, सदोष और निषेधजनक है ।

डॉ. दाभोलकर, गौरी लंकेश हत्या प्रकरण में निर्दोष सनातन संस्था को फंसाना मालेगाव-2 का षड्यंत्र !

दाभोलकर और गौरी लंकेश की हत्या के प्रकरण में अब जांच संस्थाएं अनेक कथानक सामने रख रही हैं । गौरी लंकेश हत्या प्रकरण में विविध हिन्दुत्वनिष्ठ संगठनों के 18 कार्यकर्ताआें के विरोध में पूरक आरोपपत्र प्रविष्ट करने के विषय में अत्यंत हास्यास्पद प्रसिद्धिपत्रक कर्नाटक के विशेष जांच दल ने (एसआइटी ने) प्रसिद्ध किया ।

सनातन संस्था और हिन्दू जनजागृति समिति को दोषी कहना अन्यायपूर्ण !

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के प्रकरण में कुछ समय पूर्व ही पुलिस ने पूरक आरोपपत्र प्रस्तुत किया है और कुछ माध्यमों ने चर्चा प्रारंभ कर दी है कि इसमें सनातन संस्था का नाम है ।

तृप्ती देसाई शबरीमला मंदिर जाने का ‘पब्लिसिटी स्टंट’ करने के पूर्व केरल की नन पर बलात्कारके आरोपी बिशप को सबक सिखाने की हिम्मत दिखाएं !

तृप्ती देसाई स्वयं को कानून माननेवालीं और भगवान की भक्त कहलाती हैं; यह सबसे बडा विनोद है । जो तृप्ती देसाई संविधान का आदर करने की डींगें हांकती हैं, वे ही मंदिर के न्यासियों को पीटूंगी, ऐसी घोषणा करती हैं ।

इंडिया टुडे के पत्रकार के विरोध में फोंडा (गोवा) पुलिस थाने में शिकायत प्रविष्ट !

इंडिया टुडे समाचार वाहिनी के पत्रकार और कैमेरामैन ने सनातन संस्था के  मुख्यालय सनातन आश्रम, रामनाथी (फोंडा, गोवा) के आश्रम परिसर में खडी एक साधिका का १० अक्टूबर २०१८ को सबेरे लगभग १० बजे अवैध रूप से चित्रीकरण किया ।

स्टिंग ऑपरेशन के नाम पर सनातन संस्था की बदनामी करनेवाले वैधानिक कार्यवाही के लिए तैयार रहें ! – श्री. चेतन राजहंस, सनातन संस्था

इंडिया टुडे और आज तक जैसी वृत्तवाहिनियों ने सनातन टेरर संस्था, सनातन टेरर कनेक्शन इत्यादि नाम से उनके पत्रकारों द्वारा किया गया कथित स्टिंग ऑपरेशन दिखाया ।… इस प्रकरण में हम विस्तृत पूछताछ कर रहे हैं । शीघ्र ही पत्रकारों के माध्यम से हमारी भूमिका हम समाज के समक्ष रखेंगे ।

शास्त्रानुसार बनाई गई पर्यावरणपूरक श्री गणेशमूर्ति बहते पानी में विसर्जित करना ही धर्मसम्मत है ! – सनातन संस्था

धर्मशास्त्रों में ‘श्री गणेशमूर्ति शाडूमिट्टी अथवा चिकनी मिट्टी से बनी और प्राकृतिक रंगों से रंगी हुई होनी चाहिए, तथा मूर्ति और निर्माल्य का विसर्जन बहते पानी में करना चाहिए’, ऐसा ‘पूजासमुच्चय’ एवं ‘मुद्गलपुराण’ ग्रंथों में कहा गया है ।

सनातन संस्था अध्यात्मप्रचार करती है, हिंसाचार नहीं ! – श्री. चेतन राजहंस, सनातन संस्था

महाराष्ट्र आतंकवाद विरोधी दल ने पिछले कुछ दिनों में कुछ हिन्दुत्वनिष्ठों को बंदी बनाया । ये सभी सनातन के साधक हैं, ऐसा दुष्प्रचार कुछ आधुनिकतावादी व्यक्ति, संगठन, तथा कांग्रेस आदि दलों के राजनेता जानबूझकर कर रहे हैं । इस संदर्भ में समय-समय पर सनातन संस्था ने अपनी भूमिका स्पष्ट की है; वह हम आज फिर स्पष्ट कर रहे है …

सनातन संस्था के प्रमुख को गिरफ्तार करने की मांग करनेवाले भ्रष्टाचारी राधाकृष्ण विखे पाटील को ही पहले गिरफ्तार करें !

कांग्रेस के उतावले नेता निरंतर मांग कर रहे हैं, सनातन पर प्रतिबंध लगाओ और सनातन के प्रमुख को गिरफ्तार करो ! कांग्रेस के नेता अपनी चमडी बचाने के लिए सनातन को लक्ष्य करने के लिए यह मांग कर रहे हैं ।

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”