navratri_banner_Hindi

सर्वमंगलमांगल्ये शिवे सर्वार्थसाधिके ।
शरण्ये त्र्यम्बके गौरि नारायणि नमोऽस्तुते ।।

नवरात्रि महिषासुर मर्दिनी मां श्री दुर्गादेवीका त्यौहार है । देवीने महिषासुर नामक असुरके साथ नौ दिन अर्थात प्रतिपदासे नवमीतक युद्ध कर, नवमीकी रात्रि उसका वध किया । उस समयसे देवीको ‘महिषासुरमर्दिनी’ के नामसे जाना जाता है ।

नवरात्रि

व्हिडिओ

संबंधित ग्रंथ

शक्तिका परिचयात्मक विवेचन
शक्तिका परिचयात्मक विवेचन

देवताओंके विषयमेें अध्यात्मशास्त्रीय जानकारी मिलनेपर, उनके विषयमेें श्रद्धा निर्माण होनेमें सहायता मिलती है । श्रद्धासे उपासना भावपूर्ण होती है, ऐसी उपासना अधिक फलदायी होती है । कुलदेवताकी उपासनाके विषयमेें जानकारी प्रस्तुत ग्रन्थमालामेें दी है । (श्री लक्ष्मी, श्री दुर्गा आदि कुलदेवता होें, तो उनकी उपासना अवश्य करेें ।) यदि गुरुने अन्य किसी देवीका नामजप करनेके लिए कहा हो, अथवा साधनाके अगले चरणमेें आध्यात्मिक उन्नति हेतु उस देवीका नामजप करना आवश्यक हो, तो इस ग्रन्थमालामेें दी जानकारीसे देवीके प्रति श्रद्धा बढेगी ।

Buy Now

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”