कुंभ मेला (प्रयागराज) के अवसर पर धर्मकार्य में योगदान देने का अमूल्य अवसर !

कुंभ मेल के समय में साधना हेतु अधिकाधिक समय देने पर देवता एवं संतों के आशीर्वाद प्राप्त हो कर इच्छित कार्य अल्पावधि में पूर्णता को पहुंचता है।

राष्ट्र एवं धर्म की रक्षा हेतु दिन में ५ बार श्रीकृष्णजी से प्रार्थना करें ! – सद्गुुरु नंदकुमार जाधवजी

५ सहस्र से भी अधिक धर्मप्रेमियों की उपस्थिति प्राप्त इस सभा में सनातन के सद्गुरु नंदकुमार जाधवजी ने भी मार्गदर्शन किया ।

अन्वेषण में कुछ भी हाथ न लगने से राष्ट्र एवं धर्म के लिए अपना संपूर्ण जीवन समर्पित करनेवाले सनातन प्रभात के पूर्व संपादक की मानहानि करनेवाला कर्नाटक का विशेष अन्वेषण दल !

धर्मविरोधी लोगों को ‘फंडींग’ तो केवल पैसों का होता है, यही ज्ञात है; परंतु सनातन प्रभात की दृष्टि में धर्म, हिन्दुत्व और हिन्दू राष्ट्र के विचार ही वास्तविक धन है ।

सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा आयोजित विशेष प्रदर्शनी

प्रयाग में आरंभ हो रहे कुंभ मेले के पावन अवसर पर सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति ने संयुक्तरूप से धर्मशिक्षा, धर्मरक्षा तथा धर्मजागृति करने हेतु विशेष  प्रदर्शनी का आयोजन किया है ।

आधुनिकतावादी, राज्यकर्ता और पुलिस प्रशासन, चाहे कितना भी दमन करें; परंतु वर्ष २०२३ में हिन्दू राष्ट्र की स्थापना होकर रहेगी ! – सद्गुुरु (कु.) स्वाती खाडयेजी, सनातन संस्था

राममंदिर का निर्मार ही अब सत्ता में बैठे राज्यकर्ताओं का कर्तव्य है; इसलिए अब आंदोलन नहीं, अपितु राममंदिर के निर्माण का प्रारंभ करें ।

हिन्दू त्योहार मनाने का धर्मशास्त्रीय आधार; परंतु ३१ दिसंबर मनाने का कहां है धर्मशास्त्रीय आधार ?

क्या वास्तव में ३१ दिसंबर मनाने से हमारे बच्चों का या हमारे देश का भला होगा ?

श्री महालाकालीदेवी की कृपा हो तथा सभी दुष्प्रवृत्तियों का निर्मूलन हो; इस के लिए रामनाथी (गोवा) के सनातन आश्रम में श्री महाकाली यज्ञ संपन्न !

रामनाथी में जब श्री महाकाली यज्ञ का संकल्पविधि चल रहा था, तब आश्रम के स्वागतकक्ष में स्थित श्रीकृष्णजी के चित्र को समर्पित अडहुल का फूल नीचे गिर गया ।

हिन्दू राष्ट्र की स्थापना होनेतक सनातन का एक भी साधक शांति से नहीं बैठेगा ! – वैद्या (श्रीमती) दीक्षा पेंडभाजे, सनातन संस्था

देश में हो रही धर्महानि को देखते हुए धर्मकार्य की नितांत आवश्यकता है । हिन्दू राष्ट्र की स्थापना ही आज हिन्दुओ की सामने खडी सभी समस्याओं का एकमात्र समाधान है ।

रामनाथी (गोवा) के सनातन आश्रम में संत भक्तराज महाराज तथा प.पू. रामानंद महाराज की चरण पादुकाओं का दर्शन समारोह संपन्न

चरणपादुकाओं के पूजन के पश्‍चात श्री. शरद बापट ने परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी को शॉल, कमलपुष्प तथा अंग्रेजी भाषा का‘प.पू. भक्तराज महाराजजी का दैवीय जीवनपट’ ग्रंथ समर्पित कर सम्मानित किया ।

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य तथा लेखापरीक्षक वरदराज बापट की सनातन के रामनाथी आश्रम को सदिच्छा भेंट !

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य तथा नौपाडा, ठाणे के लेखापरीक्षक श्री. वरदराज बापट ने हाल ही में सनातन के रामनाथी आश्रम का अवलोकन किया ।

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”