नालासोपारा में हुई घटना से तनिक भी संबंध न होते हुए परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी की अपकीर्ति करने का अत्यंत अनुचित प्रयास !

नालासोपारा के प्रकरण से दूर-दूर तक संबंध न होते हुए भी सनातन संस्था के संस्थापक परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवले के छायाचित्र समाचार में निरंतर दिखाकर उनकी एवं सनातन संस्था की अपकीर्ति करने का अश्लील प्रकार इस समाचार द्वारा किया गया है ।

परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी को अवतार कहने के पीछे क्या शास्त्र है, यह जानने की अपेक्षा उनपर टिपण्णी करनेवालों, इस बात की ओर ध्यान दीजिएं !

‘१८ तथा १९ मई को महर्षी की आज्ञा से परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी का अमृत महोत्सव संपन्न हुआ था । उस समय उन्होंने महर्षी की ही आज्ञा से श्रीकृष्ण एवं श्रीराम के वस्त्रालंकार धारण किए थे । इस समारोह पर कुछ बुद्धिप्रामाण्यवादी टिपण्णी कर रहे हैं । वास्तविक रूप से परात्पर गुरु डॉ. आठवलेजी ने कभी भी स्वयं को … Read more