पूरे देश में चल रहे हिन्दुआें के वंशविच्छेद का उपाय है पनून कश्मीर ! – डॉ. अजय च्रोंगू

अलवर, राजस्थान में एक भारत अभियान की सभा !

अलवर (राजस्थान) – कश्मीर में जो वंशविच्छेद हुआ, आज वह बंगाल, केरल, कर्नाटक और पूरे भारत में हो रहा है । पनून कश्मीर अर्थात कश्मीरी हिन्दुआें का कश्मीर में पुनर्वास, यह इस वंशविच्छेद का एक उपाय है । हम कश्मीरी वापस अपनी मातृभूमि जाएंगे, तो जिहाद को झटका लगेगा; परंतु आज केंद्र और राज्य शासन द्वारा कश्मीर समस्या को गलत तरीके से सुलझाने का प्रयास हो रहा है, ऐसा प्रतिपादन पनून कश्मीर के अध्यक्ष डॉ. अजय च्रोंगू ने किया । वे यहां के महावर धर्मशाला में हिन्दू शक्ति वाहिनी एवं हिन्दू जनजागृति समिति आयोजित एक भारत अभियान – चलो कश्मीर की ओर, इस सभा को संबोधित कर रहे थे ।
इस समय पनून कश्मीर के राष्ट्रीय प्रवक्ता कमल हाकजी ने विस्थापित कश्मीरी हिन्दुआें की समस्या को विस्तार से सबके सामने रखा । इस सभा को पनून कश्मीर के महासचिव श्री. कुलदीप रैना, यूथ फॉर पनून कश्मीर के श्री. विठ्ठल चौधरीजी उपस्थित थे । हिन्दू शक्ति वाहिनी के अध्यक्ष श्री. प्रेम गुप्ता व सचिव श्री. राजन गुप्ता के नेतृत्व में इस सभा का आयोजन किया गया था ।

कश्मीर की रक्षा के लिए जवानों द्वारा दिया बलिदान सरकार न भूले ! – अभय वर्तक

इस समय सनातन संस्था के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. अभय वर्तक ने कहा, आज ३५ प्रतिशत कश्मीर अपने हाथ में नहीं । लोकतंत्र और राजनेता विफल हो गए हैं । सरकार चाहती है कि पैसे लेकर हिन्दू अपनी मां-बहनों पर हुए अत्याचार भूल जाएं । यह कैसे संभव है ? इसलिए सरकार द्वारा २० लाख रुपए का प्रस्ताव देने पर भी एक भी कश्मीरी हिन्दू ने उसे स्वीकारा नहीं । इससे उनका आत्मसम्मान झलकता है । आज भारत के सभी राज्यों के जवानों ने कश्मीर की रक्षा के लिए अपना बलिदान दिया है । यह सरकार को नहीं भलना चाहिए । केवल राजनैतिक और लोकतंत्र की असफलता के कारण हमारे जवानों की जान आज भी जा रही है । आज पनून कश्मीर और सभी हिन्दुत्ववादी संगठन हाथ में हाथ डालकर कश्मीर समस्या के विषय में पूरे भारत में जागृति कर रहे हैं ।

प्रेम गुप्ताजी और राजन गुप्ताजी के तडप के कारण सभा का आयोजन !

जून २०१७ में गोवा में हुए षष्ठ अखिल भारतीय हिन्दू अधिवेशन में सभी संगठनों ने एक भारत अभियान को तेजी से आगे बढाने का विचार किया था । इस अधिवेशन में अलवर से आए हिन्दू शक्ति वाहिनी के अध्यक्ष श्री. प्रेम गुप्ता और सचिव श्री. राजन गुप्ता ने जब कश्मीर के साथ जम्मू की वास्तविक स्थिति सुनी, तब यह जानकारी अलवर के हिन्दुआें तक पहुंचाने का उन्होंने निश्‍चय किया । यह सभा इसी का फल है ।

स्त्राेत – हिंदी सनातन प्रभात