श्री गणेशोत्सव के संदर्भ में धर्मशास्त्र बताना, यह प्रशंसनीय अभियान ! – अध्यापकों द्वारा व्यक्त की गई प्रतिक्रिया

कोल्हापुर में शिक्षण संस्था तथा मंदिरों में सनातन संस्था की ओर से व्याख्यानों का आयोजन

कोल्हापुर – राजर्षी छत्रपती शाहु महाराज हायस्कूल (स्वामी विवेकानंद शिक्षण संस्था) में श्री गणेश चतुर्थी के उपलक्ष्य में ‘श्री गणेश’ इस विषय पर मार्गदर्शनआयोजित किया गया था । उस समय शास्त्रानुसार गणेशमूर्ति कैसी होनी चाहिए ? उसका पूजन किस प्रकार करें ? श्री गणेश की कृपा हम पर रहने के लिए इस कालावधी में क्या प्रयास करने चाहिए ? शास्त्रानुसार गणेशमूर्ति का विसर्जन किस प्रकार करें ? इस संदर्भ की विस्तृत जानकारी बताई गई । उसका लाभ ३६२ छात्रों ने ऊठाया, तो विक्रम हायस्कूल में २७५ छात्रों ने इसी विषय पर किए गए व्याख्यान का लाभ ऊठाया । अध्यापकों ने बताया कि, ‘यह अभियान अत्यंत प्रशंसनीय है ।’ राजर्षी छत्रपति शाहु महाराज हायस्कूल की प्राचार्या श्रीमती चव्हाण ने ९ वी तथा १० वी कक्षा के छात्रों के लिए परीक्षा के अंतिम दिन पर छात्रों के लिए उपर्युक्त विषय पर व्याख्यान आयोजित किया था ।

श्री गणेश देवालय, हेरले के हितचिंतक श्री. भूपाल मिस्त्री ने स्वयं अपने गांव में श्री गणेश चतुर्थी के उपलक्ष्य में सनातन संस्था के प्रवचन का आयोजन किया । इस प्रवचन का लाभ ५२ जिज्ञासुओं ने ऊठाया । उन्होंने यह इच्छा व्यक्त की कि, ‘हमारे गांव में इस प्रकार के कार्यक्रम आयोजित कर अधिक मात्रा में प्रसार करेंगे । साथ ही वहां प्रती माह एक प्रवचन भी आयोजित करेंगे ।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात