प्रत्येक हिन्दू में धर्मतेज उत्पन्न करना आवश्यक है ! – श्रीमती नयना भगत, सनातन संस्था

वनोठा पाडा, पेल्हार (नालासोपारा, जिला पालघर) में हिन्दू धर्मजागृति सभा

श्रीमती नयना भगत, दीपप्रज्वलन करते हुए श्री. सुमित सागवेकर

नालासोपारा, जिला पालघर (महाराष्ट्र) : आज हिन्दू युवतियों पर ‘लव जिहाद’ का संकट आया है । इस संकट का सामना करने हेतु धर्मशिक्षा के माध्यम से प्रत्येक हिन्दू में धर्मतेज उत्पन्न करना चाहिए । हमारे आचरण से ऐसा दिखाई देना चाहिए कि, हम हिन्दू हैं । सनातन संस्था की श्रीमती नयना भगत ने ऐसा प्रतिपादित किया । यहां के वनोठा पाडा, पेल्हार में २६ जनवरी को आयोजित हिन्दू धर्मजागृति सभा में वे बोल रहीं थीं । इस अवसर पर समिति के श्री. सुमित सागवेकर ने भी उपस्थित लोगों को मार्गदर्शन किया ।

यहां के धर्मशिक्षावर्ग के धर्माभिमानियों ने ६ दिनों में सभा का लगन के साथ प्रसार एवं आयोजन किया । श्री. विजय जोशी गुरुजी एवं ब्रह्मवृंद ने वेदमंत्रपठन किया । सभा में ३०० हिन्दू उपस्थित थे । फेसबुक के माध्यम से २३ सहस्र लोगों तक सभा का विषय पहुंचाया गया । धर्मकार्य की अगली दिशा निश्चित करने हेतु १ फरवरी को यहां के जिला परिषद विद्यालय के पास सायं ७ बजे पुनर्विलोकन बैठक का आयोजन किया गया है ।

‘श्रीकृष्ण हमारे साथ है’, इस आस्था से धर्मकार्य
करें ! – श्री. सुमित सागवेकर, हिन्दू जनजागृति समिति

२५ दिसंबर को वनोठा पाडा में धर्मपरिवर्तन हेतु आए लोगों को यहां के धर्माभिमानियों ने रोका । सर्वत्र के हिन्दुओं को प्रलोभन दर्शा कर यहां के धर्मपरिवर्तन करनेवालों को रोकनेवाले धर्माभिमानियों का आदर्श लेना चाहिए । ‘श्रीकृष्ण हमारे साथ है’, इस आस्था से धर्मकार्य करना चाहिए । तभी हमें निश्चित रूप से सफलता मिलेगी ।

क्षणिकाएं

१. दो पुलिस अंत तक सभास्थल पर थे ।

२. सभा से पूर्व दिनभर वहां तूफान था; परंतु प्रार्थना कर सभास्थल के आसपास तीर्थ का मंडल बनाने पर तूफान रुक गया । प.पू. पांडे महाराज एवं सद्गुुरु (कु.) अनुराधा वाडेकर द्वारा दिए गए उपाय करने से सभा निर्विघ्न रूप से संपन्न हुई ।

सभा को सहयोग करनेवाले धर्माभिमानियों का आभार !

सभा को पुलिस, प्रशासन तथा सर्वश्री बाळू हरवटे, काशिनाथ हरवटे, मनोज महालकरी, महेश निंबरा, विलास नाईक, अशोक हरवटे एवं सोनिया काटेला का सहयोग मिला । चंद्रकांत फरले, गणेश फरले, अनिल तांडेल, दिनेश तांडेल, रोहित निंबारा, अविनाश निंबारा, हरेश कारेला, श्याम कारेला, शिवराज कुंभारे, गणेश हरवटे, विकास हरवटे, सुभाष कुडवे, विकास यादव, नितीन कुडवा, शांताराम कुडवा, रोहित निबरा, अविनाश निबरा, सचिन हरवट, रोहन बुजड, दिनेश कारेला, विशाल दवले, सुनील बारे, हरिश कारेला, सागर अहिरे, रूपेश वाडे, चंद्रहास्य सरकोंडावर, रवींद्र हरवटे ने सभा का प्रसार, रचना एवं आयोजन किया । ओमकार डेकोरेटर के श्री. जयेंद्र पाटिल (भाई पाटिल) ने सभा हेतु पोडियम, कनात, पटल निशुल्क उपलब्ध करवाए ।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात