हिन्दुत्व के क्षेत्र में सनातन संस्था का साहित्य निर्माण का कार्य अमूल्य ! – श्री. सुशांत भोजक एवं श्री. बघेले, अभाविप

श्री. अभय वर्तक

बरायठा (सागर, मध्य प्रदेश) : आज संपूर्ण विश्‍व में हिन्दुओं का एक भी देश नहीं है । धर्मनिरपेक्षता के नामपर हिन्दुओं से भेदभाव किया जा रहा है । अतः हिन्दू राष्ट्र स्थापना हेतु प्रयास करना समय की मांग है । आज हिन्दुओं के सामने लव जिहाद, मंदिर सरकारीकरण, धर्मांतरण आदि विविध समस्याएं खडी हैं । प्रत्येक समस्या का उसकी जड से निराकरण करना हो, तो हिन्दू राष्ट्र स्थापना के अतिरिक्त अन्य कोई विकल्प नहीं है । सनातन संस्था के धर्मप्रचारक श्री. अभय वर्तक ने ऐसा प्रतिपादित किया । यहां आयोजित युवकों की बैठक को  वे संबोधित कर रहे थे ।

हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से हिन्दू राष्ट्र संपर्क अभियान के अंतर्गत सागर जनपद के बरायठा में कथावाचक श्री. मधुसूदन मिश्रा एवं हिन्दू जनजागृति समिति के जालस्थान के पाठक श्री. राजकुमार कौशिक के तत्त्वावधान में यह बैठक संपन्न हुई । इस बैठक में २० से भी अधिक धर्मप्रेमी उपस्थित थे ।

 

हिन्दुत्व के क्षेत्र में सनातन संस्था का साहित्य निर्माण का कार्य अमूल्य ! – श्री. सुशांत भोजक एवं श्री. बघेले, अभाविप

इस अवसरपर अभाविप के श्री. सुशांत भोजक एवं श्री. बघेले ने कहा, ‘‘वामपंथियों ने अपने विचार फैलाने के लिए साहित्य का बहुत उपयोग किया । दुर्भाग्यवश हिन्दुत्व के क्षेत्र में काल के अनुरूप, धर्मविरोधियों के कुतर्कों का उत्तर देनेवाला साहित्य दुर्लभ है; किंतु ऐसे में सनातन संस्था ने इन ग्रंथों का निर्माण कर बहुमूल्य कार्य किया है ।’’