हिन्दू युवतियों को ‘लव जिहाद’ से बचाएं ! – श्रीमती नयना भगत, प्रवक्ता, सनातन संस्था

भाईंदर (जनपद ठाणे) में श्री खंडेलवाल नवयुवक मित्रमंडल
की ओर से स्नेहसम्मेलन कार्यक्रम उत्साहपूर्ण वातावरण में संपन्न

खंडेलवाल (वैश्य) नवपरगना समुदाय के लिए आयोजित स्नेहसम्मेलन कार्यक्रम में उपस्थित मान्यवर

संस्कारों के माध्यम से अच्छे समाज का निर्माण हमारा कर्तव्य ! –
अधिवक्ता ईश्‍वरप्रसाद खंडेलवाल, अध्यक्ष, श्री खंडेलवाल नवयुवक मित्रमंडल, मुंबई

अधिवक्ता ईश्‍वरप्रसाद खंडेलवाल

भाईंदर (जनपद ठाणे) : आज हमारे हिन्दू समाज को धर्माचरण सिखाने की आवश्यकता है । संस्कारों के माध्यम से अच्छे समाज का निर्माण होता है तथा यह हम सभी का प्रमुख कर्तव्य है । १४ फरवरी को वैलेंटाईन डे मनाया जाता है; परंतु हमें इस विदेशी परंपरा को बदलना चाहिए । इसलिए हम १४ फरवरी को ‘मातृ-पितृ पूजन दिवस’ मनाएंगे । इस माध्यम से हमारी संस्कृति तथा परंपरा संजोई जाएगी । श्री खंडेलवाल नवयुवक मित्रमंडल की ओर से खंडेलवाल समुदाय एकत्रित होकर १४ फरवरी २०१९ को मातृ-पितृ दिवस मनाया जाएगा, साथ ही इस अवसरपर विद्यालयीन बच्चों के लिए बालसंस्कार शिविर का आयोजन किया जाएगा । श्री खंडेलवाल नवयुवक मित्रमंडल के अध्यक्ष अधिवक्ता खंडेलवाल ने यह आवाहन करते हुए कहा कि जब-जब समाजकार्य की आवश्यकता होती है, तब-तब खंडेलवाल समुदाय बडा योगदान दें । खंडेलवाल (वैश्य) नवपरगना समुदाय के लिए दीपावली के उपलक्ष्य में आयोजित स्नेहसम्मेलन में अपने ज्ञातिजनों को संबोधित करते हुए वे ऐसा बोल रहे थे । १८ नवंबर २०१८ को भाईंदर (पश्‍चिम) के कस्तुरी गार्डन प्रांगण में उत्साहपूर्ण वातावरण में संपन्न हुआ । ८०० से भी अधिक लोगों ने इसका लाभ उठाया ।

श्री. खंडेलवाल ने आगे कहा, ‘‘खंडेलवाल (वैश्य) नवपरगना समुदाय के राजस्थानसहित संपूर्ण भारतवर्ष में १० सहस्र सदस्य हैं तथा यह समुदाय चारभुजा (विष्णुजी) की उपासना करनेवाला समुदाय है । यह समुदाय स्वयं को दहेज प्रथा से दूर रखनेवाला, नशामुक्त तथा सात्त्विक समुदाय है । इस समुदाय ने देश के विविध राज्यों में जाकर राष्ट्रकार्य में अपना योगदान दिया है । अब इस समाज को साधना कर समाजसेवा तथा राष्ट्र-धर्म कार्य का संकल्प लेना चाहिए ।’’

इस अवसरपर कार्यक्रम की मुख्य अतिथि सनातन संस्था की प्रवक्ता श्रीमती नयना भगत ने उपस्थित खंडेलवाल समुदाय को ‘लव जिहाद’ विषयपर संबोधित किया ।

हिन्दू युवतियों को ‘लव जिहाद’ से बचाएं !
– श्रीमती नयना भगत, प्रवक्ता, सनातन संस्था

आज हमारे देश की समस्त जनता जिहादी आतंकवाद से त्रस्त है । हमारी हिन्दू युवतियां और माता-बहनों का जीवन ध्वस्त करनेवाले लव जिहाद का संकट भयानक है । इस लव जिहाद का संकट कोई नया नहीं है, अपितु महम्मद बीन कासिम, अकबर तथा अल्लाउद्दिन खिलजी के समय से ही लव जिहाद चल रहा है । चलचित्र अभिनेता तथा अभिनेत्रियां आज के युवकों के आदर्श बन गए हैं । यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि आज की युवा पीढी छत्रपति शिवाजी महाराज, महाराणा प्रताप जैसे वीरपुरुषों के विषय में २ पंक्तियां भी बोल नहीं सकती; परंतु मुसलमान अभिनेताआें के विषय में बोल सकती है । इन सभी खानों के साथ जो अभिनेत्रियां होती हैं, वे हिन्दू होती हैं । यह एक बडा षड्यंत्र है । हिन्दू लडकियां इस फिल्मी जिहाद की बलि चढ रही है और धर्मांध हिन्दू युवतियों को भगा ले जा रहे हैं । ये धर्मांध वशीकरण के माध्यम से हिन्दू युवतियों को अपने जाल में फंसा रहे हैं । स्वयं को इस संकट से बचाने बचाने के लिए हिन्दू युवतियों को साधना की आवश्यकता है ।

स्रोत : दैनिक सनातन प्रभात