सनातन संस्था और हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से विविध स्थानोंपर प्रवचन, निवेदन तथा धर्मशिक्षा फलकों की प्रदर्शनी !

सांगली (महाराष्ट्र)  : आदर्श गणेशोत्सव अभियान के अंतर्गत सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से विविध स्थानोंपर प्रशासनिक अधिकारी तथा जनप्रतिनिधियों को निवेदन सौंपे गए, अनेक स्थानोंपर प्रवचन लिए गए, साथ ही कुछ गणेशोत्सव मंडलों के मंडपों में धर्मशिक्षा के विषय में फलकों की प्रदर्शनीयां लगाई गईं ।

कवठेमहांकाळ में राजा विद्यानगरचा गणेशोत्सव मंडल में लगाए गए धर्मशिक्षा फलक

१. कवठेमहांकाळ के राजा विद्यानगरचा गणेशोत्सव मंडल ने हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा बनाए गए धर्मशिक्षाविषय के, साथ ही राष्ट्रप्रेम जागृत करनेवाले फलक लगाए ।

दैवज्ञ समुदाय में प्रवचन लेेती हुईं श्रीमती संपदा पाटणकर (बाईं ओर)

२. सांगली के दैवज्ञ समुदाय संस्था की एार से रजतमहोत्सवी वर्ष के उपलक्ष्य में विविध उपक्रम चलाए जा रहे हैं । इसके अंतर्गत दैवज्ञ भवन में सामूहिकरूप से अथर्वशीर्ष के ११ आवर्तनों का पठन किया गया । इस उपक्रम में ५० से भी अधिक श्रद्धालुआें ने भाग लिया । आवर्तनों की कालावधि में सनातन संस्था की साधिका तथा संस्कृत की अध्यापिका श्रीमती संपदा अमित पाटणकर ने श्रद्धालुआें को श्री गणेशजी के विषय में संपूर्ण जानकारी दी । इस उपक्रम के आयोजन में दैवज्ञ समुदाय के अध्यक्ष श्री. अनिलराव गडकरी का भी बडा योगदान था, साथ ही श्री. विजयदादा कडणे का भी बहुमूल्य योगदान था । श्रीमती ज्योति गडकरी ने पुनः एक बार इस प्रकार का बडा कार्यक्रम रखने की बात कही, तो श्रीमती प्रिया गडकरी ने ‘इससे सभी को बहुत ही महत्त्वपूर्ण और नई जानकारी मिलने की प्रतिक्रिया व्यक्त की ।

३. शिराळा तहसील के तळवडे में सनातन की अधिवक्ता (श्रीमती) भारती जैन ने उपस्थित श्रद्धालुआें का उद्बोधन किया । इस अवसरपर १२ गणेशोत्सव मंडलों के १०० से भी अधिक प्रतिनिधि, जिज्ञासु और श्रद्धालु उपस्थित थे । इस अवसरपर हिन्दुत्वनिष्ठों के साथ विविध प्रकार से बंदी बनाए जाने की हो रही घटनाएं तथा इसके पीछे आधुनिकतावादियों के षड्यंत्र के विषय में भी जानकारी दी गई ।

४. तासगाव तहसील के बस्तवड सिद्धेबाडी तथा कौलगे में गणेशोत्सव मंडलों की बैठकें की गईं ।

५. विविध स्थानोंपर सामूहिक नामजप और अथर्वशीर्ष पठन के उपक्रम लिए गए ।

६. विटा के तहसीलदार, जत का तहसील कार्यालय तथा पंचायत समिति, विटा के उपनगराध्यक्ष, तो हरिपुर और कुंडल के सरपंच को निवेदन सौंपा गया ।

स्रोत : दैनिक सनातन प्रभात