हिन्दू राष्ट्र की स्थापना हेतु जातिधर्म भूलकर धर्मयोद्धा बनें ! – नैमिष सेठ, रा.स्व. संघ

भोपाळ में धर्मनिरपेक्ष संगठनों द्वारा तृतीय प्रांतीय हिन्दू अधिवेशन !

दाएं से श्री. योगेश वनमारे, श्री. योगेश पटवाजी, दीपप्रज्वलन करते समय श्री. नैमिष सेठ तथा विनोद यादव

भोपाल (मध्यप्रदेश) – यहां के धर्मरक्षक संगठन द्वारा आसूदानी चॅरिटेबल ट्रस्ट धर्मशाला में आयोजित तृतीय प्रांतीय हिन्दू अधिवेशन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के भोपाळ समरसता विभागप्रमुख श्री. नैमिष सेठ वक्तव्य कर रहे थे । अपने वक्तव्य में उन्होंने यह प्रतिपादित किया कि, ‘यह वर्ष गुरु गोविंदसिंग का ३५० वा जयंति वर्ष है । उनके कार्यकाल में चमकोर लडाई में केवल ४० खालसा योद्वाओं ने ३सहस्त्र मुगलों को पराजित किया था । गुरु गोविंदसिंह के खालसा पंथ में हिन्दुओं ने धर्मयोद्धा के अनुसार सम्मिलित होना अपेक्षित है । हिन्दू राष्ट्र की स्थापना हेतु अब हमें जातिपाती भूलकर धर्मयोद्धा बनना चाहिए ।’ उस समय व्यासपीठ पर धर्मरक्षक संगठन के संस्थापक अध्यक्ष श्री. विनोद यादव, संगठन के अध्यक्ष श्री. योगेश पटवा, हिन्दू जनजागृति समिति के मध्यप्रदेश समन्वयक श्री. योगेश वनमारे उपस्थित थे ।

 

हिन्दू राष्ट्र के लिए हिन्दुओं को शौर्य तथा स्वाभिमान जागृत करने की आवयकता ! – योगेश वनमारे

हिन्दू जनजागृति समिति के श्री. योगेश वनमारे ने इस अधिवेशन में यह वक्तव्य किया कि, ‘‘भारत में आज हिन्दु बहुसंख्यंक होते हुए भी उन पर अन्याय हो रहे हैं । स्वयं के अधिकार के लिए हिन्दुओं को झगडना बाध्य हो रहा है । हिन्दू अपना शौर्य तथा स्वामिमान भूल गए हैं; इसलिए उनकी यह परिस्थिती हुई है । इस परिस्थिती में परिवर्तन लाने के लिए हिन्दुओं को अपना शौर्य तथा स्वाभिमान जागृत करने की आवश्यकता है ।’’

 

हिन्दुओं की समस्याओं पर हिन्दू राष्ट्र की स्थापना करना, ही एकमात्र समाधान ! – आनंद जाखोटिया

‘हिन्दू राष्ट्र की आवश्यकता ?’ इस विषय पर मार्गदर्शन करते समय हिन्दू जनजागृति समिति के मध्यप्रदेश तथा राजस्थान समन्वयक श्री. आनंद जाखोटिया ने बताया, ‘‘आज धर्मनिरपेक्षता के नाम पर सर्वत्र के शासनकर्ता हिन्दुओं के साथ दुय्यम व्यवहार करते हैं । उसके लिए अब हिन्दुओं को संगठित होकर हिन्दू राष्ट्र की मागं करना चाहिए । ‘हिन्दू राष्ट्र’ स्थापन करना, ही हिन्दुओ की सभी समस्याओं पर एकमात्र समाधान है ।’’

 

अब सुदर्शन चक्रधारी श्रीकृष्ण का पूजन करने की आवश्यकता है ! – योगेश परमार

मुख्यमंत्री जनकल्याण योजना के भोपाल नगर संयोजक श्री. योगेश परमार ने वक्तव्य किया कि, ‘‘अब सुदर्शन चक्रधारी श्रीकृष्ण की पूजा तथा भक्ति करने की आवश्यकता है । अनुचित इतिहास पढाया जाने के कारण हिन्दु अपनी वीरता भूल गए हैं । यदि अपने आसपास के हिन्दुओं का संगठन किया, तो भारत शीघ्र ही हिन्दू राष्ट्र बनेगा ।’’ हिन्दू जनजागृति समिति के श्री. श्रीराम काणे ने प्रतिपादित किया कि, ‘धर्माचरण कर आदर्श हिन्दु राष्ट्र-संगठक बनना, समय की आवश्यकता है ।’ धर्मरक्षक संगठन के श्री. आकाश यादव ने यह वक्तव्य किया कि, ‘धैर्य, समय का पालन करना, साहस, अनुशासन तथा निर्णयक्षमता ये धर्मरक्षक संगठन के पंचतत्त्वं हैं ।’

क्षणिकाएं

१. सनातन के कार्य की प्रशंसा करते हुए नैमिष सेठने बताया कि, ‘‘ सनातन संस्था के साधक इस अधिवेशन में  उपस्थित हैं । हिन्दू राष्ट्र की स्थापना का ध्येय सामने रखते हुए वे कार्य कर रहे हैं । उनसे मिलकर अत्यंत आनंद हुआ ।’’

२. सनातन द्वारा प्रकाशित की गई ग्रंथ एवं सात्त्विक उत्पादनी की प्रदर्शनी अधिवेशनस्थल पर आयोजित की गई थी ।

३. सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति की ओर से हिन्दू राष्ट्र, आचारधर्म तथा क्रांतिकारकों के संदर्भ की जानकारी प्रकाशित करनेवाले फलकों की प्रदर्शनी अधिवेशन स्थल पर आयोजित की गई थी ।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात