‘खडकवासला जलाशय रक्षा’ अभियान में सनातन संस्था का सक्रिय सहभाग

  • निरंतर १८वें वर्ष भी अभियान शतप्रतिशत सफल ! 
  • मानवीय शृंखला और उद्बोधन कर रोका खडकवासला जलाशय का प्रदूषण
खडकवासला जलाशय रक्षा हेतु हाथों में उद्बोधक फलक लेकर खडे धर्मप्रेमी

पुणे : धूलिवंदन और रंगपंचमी के दिन रंग खेलकर जलाशय में उतरना धर्मशास्त्रविसंगत कृत्य है । हिन्दू त्योहारों के नामपर होनेवाली अप्रिय घटनाएं टालने हेतु, साथ ही हिन्दुओं को धर्मशास्त्र की जानकारी मिले; इस उद्देश्य से हिन्दू जनजागृति समिति विगत १७ वर्षों से उद्बोधन अभियान चला रही है । इसी अभियान के अंतर्गत हिन्दू जनजागृति समिति, सनातन संस्था, कमिन्स इंडिया लिमिटेड, पुणे; एवं समविचारी संगठनों की ओर से ‘खडकवासला जलाशय रक्षा अभियान’ चलाया जाता है । यह वर्ष इस अभियान का १८वां वर्ष है । इसमें कोई भी व्यक्ति रंग खेलकर इस जलाशय में न उतरे और पुणे नगर को पेयजल की आपूर्ति करनेवाला यह जलाशय प्रदूषणमुक्त रहे; इसके लिए जलाशय के इर्द-गिर्द मानवीय शृंखला बनाकर उद्बोधन किया जाता है ।

 

अभियान सफल !

इस वर्ष भी सुबह ९ बजे से सायंकाल ७ बजेतक जलाशय के इर्द-गिर्द मानवीय शृंखला बनाई गई और रंगों में रंगे हुए युवक-युवतियों का उद्बोधन कर उन्हें जलाशय के पानी में उतरने से रोका गया । प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी यह अभियान १०० प्रतिशत सफल रहा । इस अभियान में कुल १५० से भी अधिक कार्यकर्ताओं ने भाग लिया । सभी के सहयोग से इस अभियान को व्यापक स्वरूप प्राप्त हुआ । इसी प्रकार से रंगपंचमी के दिन अर्थात १३ मार्च को भी यह अभियान चलाया जाएगा ।

संदर्भ : दैनिक सनातन प्रभात

facebook.com/sanatan.org