सनातन आश्रम, ऋषि-मुनियों का तपोस्थान !

सनातन के रामनाथी आश्रम का स्थान ऋषि-मुनियों का तपोस्थान है । मेरे आश्रम निवास में मुझे इसकी प्रतीती हो रही है । मेरे जीवन का यह काल, एक महान कार्य के लिए दिया गया है ।

टाटानगर के संत पू. विद्यानंद सरस्वतीजी का सनातन संस्था को सहयोग देने का आश्‍वासन

पू. (डॉ.) पिंगळेजीने २६.१०.१५ को टाटानगर में जूना आखाडा के अंतरराष्ट्रीय प्रवक्ता श्री महंत विद्यानंद सरस्वती महाराजजी की भेंट ली । तब उन्होंने सनातन के कार्य को आशीर्वाद दिए ।

सनातन के कार्य को सदैव आशीर्वाद – राष्ट्रसंत प.पू. भैय्यूजी महाराज

सनातन का कार्य अच्छा है एवं सनातन को सदैव मेरे आशीर्वाद हैं । राष्ट्रसंत प.पू.भैय्यूजी महाराज ने ऐसा प्रतिपादन किया ।

सनातन संस्था की स्थापना, उद्देश्य एवं विशेषताएं

भक्तियोग, ज्ञानयोग, ध्यानयोग आदि विविध योगमार्ग के अनुसार साधना करनेवाले साधकों को उनकी व्यक्तिगत आध्यात्मिक उन्नति हेतु मार्गदर्शन करना सनातन के कार्य का केंद्रबिंदु है ।

सनातन संस्था को मेरा सदैव आशीर्वाद – जगद्गुरु श्री रामानंदाचार्य स्वामी नरेंद्राचार्य महाराज

मुंबई में जगद्गुरु श्री रामानंदाचार्य स्वामी नरेंद्राचार्य महाराज का प्रवचन एवं दर्शन समारोह का आयोजन किया गया था। तदुपरांत हुई सनातन के साधकोंसे भेंट के समय सनातन संस्थापर आई बंदी के संकट के संदर्भ में उन्होंने कहा कि, ‘चिंता न करें ! ऐसा कुछ नहीं होगा।