आध्यात्मिक पहेली

सूक्ष्म दर्शनेंद्रियों द्वारा करने योग्य प्रयोग

अधिकांश नियतकालिकों में शब्दपहेलियां होती हैं । वे बौद्धिक स्तर की होती हैं । सनातन प्रभात आध्यात्मिक नियतकालिक होने से इस लेखमाला में आध्यात्मिक स्तर की पहेलियां दी हैं । अत: इससे मानसिक, बौद्धिक एवं आध्यात्मिक स्तर की पहेलियों में भिन्नता ध्यान में आएगी ।

अक्षरों का मध्यम स्वर में उच्चारण करना

संगीत के सप्तस्वर – सा, रे, ग, म, प, ध, नी, सा का उच्चारण करना (अथवा अन्यों द्वारा किया उच्चारण सुनना)

प्रयोग  

संगीत के सा, रे, ग, म, प, ध, नी, सा, इन सप्तस्वरों का प्रत्येक स्वर का ५ – ७ बार उच्चारण कर क्या प्रतीत होता है, इसका अध्ययन करें । ऐसा २ – ३ मिनट करें ।

प्रयोग का उत्तर

आरंभ का स्वर सा का उच्चारण करते समय अच्छा लगता है । आगे के स्वरों का उच्चारण करते समय अधिकाधिक कष्ट होता है और अंतिम सा का उच्चारण करते समय सर्वाधिक कष्ट होते हैं ।

विश्‍लेषण

आरंभ का सा नीचली पट्टी का है, तो आगे के स्वर क्रमशः उपर की पट्टी के हैं और अंतिम सा सर्वाधिक उपर की पट्टी का है । नीचली पट्टी का स्वर मौन के अधिक समीप है, तो क्रमशः उपर की पट्टी के स्वर मौन से दूर-दूर जानेवाले हैं । मौन शून्य के समीप होता है; इसलिए ऐसी अनुभूतियां होती हैं ।

स्रोत :  पाक्षिक सनातन प्रभात