गमले में पौधा कैसे लगाएं और उसकी देखभाल कैसे करें ?

अतः आगामी भीषण आपातकाल में अल्प मूल्य की बहुगुणी विविध औषधीय वनस्पतियां सहजता से उपलब्ध हों, इसके लिए उन्हें अभी से घर के आसपास अथवा खेत में रोपना आवश्यक है

घरके पिछवाडे अथवा बगीचे में लगाई जानेवाली औषधीय वनस्पतियां

अनेक औषधीय वनस्पतियों का साग अच्छा बनता है । कुछ औषधीय पौधों में फल भी लगते हैं । कुछ कंदवर्गीय वनस्पतियों के कन्द पेट भरने के लिए भी खाए जा सकते हैं ।

घर के बरामदे (बालकनी) में भी लगाए जाने योग्य कुछ चयनित औषधीय वनस्पतियां और उनका व्यापक उपयोग

जो लोग सदनिकाआें (फ्लैट्स) अथवा किराए के घरों में रहते हैं वे निम्नांकित १० वनस्पतियां गमलों में अथवा प्लास्टिक की थैलियों में रोपकर, घर के बरामदे में रख सकते हैं ।

औषधीय वनस्पतियों का रोपण साधना के रूप में करें !

औषधीय वनस्पतियों के आसपास का वातावरण जितना सात्त्विक होगा, उतनी वे अधिक सात्त्विक बनती हैं । जितना सत्त्वगुण अधिक हो, उतना ही वनस्पतियोंके औषधीय गुण भी बढते हैं ।

अन्य फसल के साथ लगाई जानेवाली औषधीय वनस्पतियां तथा परती भूमि में, अत्यल्प श्रम तथा पानी अल्प होने पर रोपी जा सकनेवाली औषधीय वनस्पतियां

प्रकृति में खरपतवार के रूप में बडी मात्रा में उगनेवाली वनस्पतियों को अलग से लगाने की आवश्यकता नहीं रहती; परंतु हमें ऐसी वनस्पतियों की पहचान होनी चाहिए

बदरीनाथ धाम में उगे इस चमत्कारिक पौधे से हैरत में पडे वैज्ञानिक !

जलवायु परिवर्तन के दुष्प्रभावों से जड़ी-बूटियों के संरक्षण के लिए तैयार किए जा रहे डाटा बेस के तहत पहली बार विज्ञानियों ने बदरी तुलसी पर परीक्षण किया।

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”