रामनाथी, गोवा में २ दिन का ‘सोशल मिडिया प्रशिक्षण शिवीर’ का शुभारंभ !

सनातन संस्था एवं हिन्दू जनजागृति समितिद्वारा ‘सोशल मिडिया प्रशिक्षण शिवीर’

• शिवीर के माध्यम से हिन्दू धर्मप्रसार कार्य हेतु सोशल मिडीया का परिणामकारक उपयोग करने के संबंध में मार्गदर्शन !
• पूरे भारत से सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति के साधक एवं कार्यकर्ताएं सम्मिलित !

रामनाथी (गोवा) : यह स्पष्ट हो रहा है कि, आज बहुसंख्यंक हिन्दुओं के देश में पृथक स्तरों पर हिन्दुओं को दबोचा जाता है। अधिकांश प्रसारमाध्यमं तथाकथित धर्मनिरपेक्षता के नाम पर हिन्दुओं पर होनेवाले अन्याय तथा अत्याचारों को स्पष्ट नहीं करते। दूसरी ओर आज अधिकांश लोग प्रसारमाध्यमों के साथ-साथ, कदाचित उससे भी अधिक सोशल मीडिया का उपयोग करते हैं। अतः हिन्दुओं पर आनेवाली आपत्ति समाज के सामने प्रस्तुत हो, इसलिए सोशल मीडिया (सामाजिक जालस्थल) एक प्रभाकी माध्यम हुआ है।

इसके द्वारा राष्ट्र-धर्मविषयक जानकारी, प्रसार के साथ लक्षावधी लोगों तक हिन्दुओं पर आनेवाली आपत्ति परिणामकारक रीति से पहुंचाने के लिए सहायता होती है। इसी उद्देश्य से रामनाथी, गोवा के सनातन के आश्रम में २० अगस्त के दिन ‘सोशल मीडिया प्रशिक्षण शिवीर’ का शुभारंभ किया गया।

दो दिन के इस शिवीर में पूरे भारत से सनातन संस्था तथा हिन्दू जनजागृति समिति के अलग अलग राज्यों के १०० साधक तथा कार्यकर्ता संगणकीय प्रणाली के माध्यम से इस शिवीर में सम्मिलित हुए थे। साथ ही देश के ३५ स्थानों से साधक तथा कार्यकर्ता संगणकीय प्रणाली के माध्यम से इस शिवीर में सम्मिलित हुए थे।

प्रथम दिन व्हॉटस् अ‍ॅप, फेसबूक तथा ट्विटर इन सामाजिक जालस्थलों का हिन्दु धर्म प्रसार हेतु परिणामकारक उपयोग किस प्रकार करें, इस संदर्भ में उपस्थितों को मार्गदर्शन किया गया। साथ ही इन जालस्थलों पर पोस्ट डालने के लिए आकर्षक छायाचित्र किस प्रकार से अंकित करें ?, उनका महत्त्व इस संदर्भ में भी मार्गदर्शन किया गया। साथ ही शिवीर में सोशल मीडिया के माध्यम से प्रसार करने की दिशा तथा नियोजन के संदर्भ में भी चर्चा की गई।

क्षणिका

शंखनाद तथा भगवान श्रीकृष्ण के श्‍लोक से शिवीर का शुभारंभ किया गया।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात