सनातन संस्था का कार्य समाज को योग्य दिशा देनेवाला है ! – पू. श्यामगिरी महाराज

गुरुपूर्णिमा विशेष स्मरणिका का लोकार्पण करते हुए पू. श्यामपुरी महाराज तथा सनातन के साधक

सातारा : संत भक्तराज महाराज के शिष्य परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी बहुत महान हैं और वे राष्ट्र और धर्म के सच्चे रक्षणकर्ता हैं । आनेवाला काल अत्यंत अनिष्ट है; इसलिए गुरुदेवजी साधक और समाज की रक्षा हेतु दिनरात कार्यरत हैं, साथ ही वे हिन्दू समाज का संगठन कर बडी सहजता से उनके द्वारा राष्ट्ररक्षा एवं धर्मजागृति का महान कार्य करवा ले रहे हैं । परात्पर गुरु भले ही केवल सनातन संस्था के संस्थापक हों; परंतु वे अखिल विश्‍व के हैं । सनातन संस्था का महत्त्व शब्दों में विशद नहीं किया जा सकता । सनातन का कार्य अवर्णनीय और समाज को दिशा देनेवाला है । औंध (जनपद सातारा) के प.पू. हिरापुरी मठ के मठाधीश पू. श्यामपुरी महाराज ने उक्त गौरवोद्गार व्यक्त किए ।

सातारा में १६ जुलाई को सायंकाल ५.३० बजे सातारा-कोरेगाव मार्गपर स्थित वेदभवन मंगल कार्यालय में सनातन संस्था की ओर से गुरुपूर्णिमा महोत्सव २०१९ का आयोजन किया गया है । इस महोत्सव के प्रसार हेतु प्रकाशित विशेष स्मरणिका के लोकार्पण के अवसरपर वे ऐसा बोल रहे थे । इस अवसरपर वडूज के सनातन के साधक श्री. हंसराज पटेल एवं श्री. रामभाऊ गोडसे उपस्थित थे । पू. श्यामपुरी महाराज ने सनातन के साधकों से मिलनेपर विशेष आनंद प्रतीत होने की बात कही और सनातन के आगे के कार्य के लिए शुभाशिर्वाद भी प्रदान किए ।

स्रोत : दैनिक सनातन प्रभात