इंडोनेशिया में पग-पग पर दिखाई देनेवाले प्राचीन हिन्दू संस्कृति के अवशेष

सद्गुरु (श्रीमती) अंजली गाडगीळ के नेतृत्व में इंडोनेशिया
पहुंचे महर्षि अध्यात्म विश्‍वविद्यालय के अध्ययन-दल का यात्रा वृत्तांत

सद्गुरु (श्रीमती) अंजली गाडगीळ

एक समय जहां समुद्रमंथन हुआ था, वह भूभाग आज का इण्डोनेशिया है ! १५ वीं शताब्दी तक इण्डोनेशिया में श्रीविजय, मातरम्, शैलेंद्र, संजया, मजपाहित जैसे हिन्दू राजाओं का राज्य था । पश्‍चात, मुसलमानों के आक्रमण से वहां की भाषा और संस्कृति में परिवर्तन हुआ । तब भी, वहां के नागरिक पहले हिन्दू थे, इसलिए उनके दैनिक जीवन में हिन्दू धर्म के विविध पक्ष दिखाई देते हैं । इस प्रकार, एक समय पूरे विश्‍व में फैली हिन्दू संस्कृति का अध्ययन करने के लिए महर्षि अध्यात्म विश्‍वविद्यालय की ओर से सद्गुरु (श्रीमती) अंजली गाडगीळ और उनके साथ ४ विद्यार्थी साधक आजकल इंडोनेशिया के भ्रमण पर हैं । वे जिन स्थानों पर गए हैं, वहां की विशेषताएं और हिन्दू संस्कृति के पदचिन्ह दर्शानेवाला यह लेख-स्तंभ !

१. इंडोनेशिया में प्रयुक्त होनेवाले संस्कृत भाषा से संबंधित कुछ सामान्य शब्द

संस्कृताधारित शब्द इंडोनेशिया में प्रयुक्त होनेवाले शब्द
१. निवासस्थान आश्रमा
२. पति स्वामी
३. पत्नी स्त्री
४. स्त्री वनिता
५. पुरुष प्रिय
६. अभिनेता सूत्रधार
७. सैनिक परवीर
८. वाहन की दुकान वाहना
९. परिवहन परिविसता
१०. शिविर लोककार्य
११. महिला मंडल धर्म वनिता
१२. ग्रंथालय पेरपुस्तकान

 

२. नगरों और व्यक्तियों के नाम भी संस्कृत में होना

इंडोनेशिया में नगरों के नाम भी सुंदर हैं । इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता का मूल नाम जयकर्ता है ! इसकी सांस्कृतिक राजधानी योग्यकर्ता है । इस नगर की वायव्य दिशा में पूर्वकर्ता और पूर्व दिशा में सूरकर्ता नगर है । यहां की जनसंख्या में ८७ प्रतिशत मुसलमान हैं । यह विश्‍व का सबसे बडा इस्लामी देश है । फिर भी, यहां के लोगों के नाम युधिष्ठिर, भीमा, कृष्णा, वायु, सूर्या, आदिपुत्रो, शिखंडी, भैरवा, सूर्यधर्मा, अर्जुना इस प्रकार के हैं । विष्णु नाम यहां बहुत प्रचलित है ।

 

३. भगवान श्रीविष्णु का वाहन गरुड, इंडोनेशिया का राष्ट्रीय पक्षी !

इण्डोनेशिया का नारा है, भिन्नेका तुंगळ एका । इसका अर्थ है, दिखाई देते हैं अनेक, पर हैं एक ! इंडोनेशिया का राष्ट्रीय चिन्ह गरुड है । यहां के राष्ट्रीय विमान परिवहन प्रतिष्ठान का नाम भी गरुडा एयरलाइन्स है ।

– (सद्गुरु) श्रीमती अंजली गाडगीळ, इंडोनेशिया.

संदर्भ : दैनिक सनातन प्रभात

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”