हिन्दू-संगठन एवं हिन्दू राष्ट्र की स्थापना का दिशादर्शक केंद्र !

हिन्दुत्वनिष्ठों के लिए कार्यशाला, हिन्दू अधिवेशन इत्यादि का आयोजन !

केवल हिन्दुआेंको एकजुट करनेवाली विचारधारा ही दशे – धर्म की रक्षा तथा हिन्दू राष्ट्र की स्थापना कर सकती है, यह ध्यान में रख विविध हिन्दू संगठन, संप्रदाय, अधिवक्ता (वकील), विचारक आदि का दिशादशर्न करने हेतु आश्रम में कार्यशाला, अधिवेशन आदि का आयोजन किया जाता है ।

हिन्दू राष्ट्र के वक्ता-प्रवक्ता तैयार करनेवाला सनातन अध्ययन केंद्र !

आश्रम का यह केंद्र प्रसारमाध्यमों में हिन्दू धर्म का पक्ष रखने हेतु हिन्दुत्वनिष्ठों की वैचारिक सहायता करता है । इस केंद्र की वक्ता प्रशिक्षण कार्यशालाआें में प्रशिक्षित ४० सेअधिक वक्ताआें ने दूरदर्शन-वाहिनियों पर ३०० से अधिक चर्चासत्रों में प्रभावी रूप से हिन्दू धर्म का पक्ष रखा है ।