टांझानिया (पूर्व आफ्रिका) में गणेशोत्सव के उपलक्ष्य में प्रसारित की गई फ्लेक्स प्रदर्शनी को श्रद्धालुओं द्वारा उत्स्फूर्त प्रतिसाद

यहां के श्री लक्ष्मीनारायण मंदिर परिसर के श्री हिन्दु युनियन के सभागृह में अरूषा गणेशोत्सव समिति की ओर से आयोजित किए गए सामुहिक गणेशोत्सव के उपलक्ष्य में सनातन संस्था द्वारा धर्मशिक्षण तथा क्रांतिकारकों की फ्लेक्स प्रदर्शनी आयोजित की गई थी ।

श्री गणेश उपासना

जिस दिन श्री गणेश तरंगें प्रथम बार पृथ्वी पर आईं अर्थात जिस दिन गणेशजन्म हुआ, वह दिन था माघ शुक्ल चतुर्थी । उसी दिन से श्री गणपति का चतुर्थी से संबंध स्थापित हुआ ।

श्री गणेश चतुर्थी

भगवान श्री गणेश सर्व हिंदुओंके आराध्य देवता हैं । इसके साथ ही भगवान गणेश बुद्धीके देवता भी हैं । गणपति सभीको आनंद देनेवाले देवता हैं । ऐसे देवताका उत्सव हमें शास्त्रके अनुसार मनाना चाहिए, तभी हमपर गणपति देवताकी कृपा होगी । जब गणेशोत्सव आता है; तो हमें आनंद होता है न ? आज हम शास्त्रानुसार गणेशोत्सव कैसे मनाएं तथा गणपतिके नामोंका अर्थ एवं गणेशोत्सवके अनाचार कैसे बंद करें, यह देखेंगे ।