आपातकालमें जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग  ७

आपातकाल से पार होने के लिए साधना सिखानेवाली सनातन संस्था ! भाग ६ पढनेके लिए देखें – आपातकालमें जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी भाग  ६ आपातकाल में अखिल मानवजाति की जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी करने के विषय में मार्गदर्शन करनेवाले एकमात्र परात्पर गुरु डॉ. जयंत आठवलेजी ! आपातकालीन लेखमाला के पिछले भाग में हमने पारिवारिक स्तर … Read more

बडे शहरों में असुरक्षित वातावरण के साथ-साथ वहां के रज-तम के बढते प्रभुत्व का कारण अपने परिवार के साथ किसी गांव अथवा तालुका में स्थानांतरित होने का विचार करें और वैसी व्यवस्था करें !

वर्तमान में, भारत और साथ ही अन्य प्रमुख शहरों में महानगरों की जनसंख्या दिन-प्रतिदिन बढती जा रही है । वहां बढती महामारी सभी के लिए चिंता का विषय बन गई है ।

आपातकाल में जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग – ६

आपातकाल की दृष्टि से कौन-कौन-सी वस्तुएं घर में रहनी चाहिए, यह कभी-कभी एकदम नहीं सूझता । पाठकों को ऐसी वस्तुएं खरीदना सरल हो, इस विचार से आगे विभिन्न वस्तुओं की सूची दी है ।

आपातकाल में जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग – ५

आपातकाल में पेट्रोल, डीजल आदि ईंधन का संकट अनुभव होगा । आगे तो ये ईंधन मिलेंगे भी नहीं । तब ईंधन पर चलनेवाले दुपहिया और चारपहिया वाहन अनुपयोगी हो जाएंगे ।

आपातकालमें जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग १०

पारिवारिक स्तर पर विचार करते समय घर के विषय में, आर्थिक स्तर पर विचार करते समय संपत्ति के विषय में तथा सामाजिक दायित्व के अंतर्गत समाज के लिए हम क्या कर सकते हैं, इस विषय में जानकारी दी गई है ।

आपातकाल में जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग ४

मनुष्य पानी के बिना जीवित नहीं रह सकता और वह बिजली के अभाव में जीवित रहने की कल्पना भी नहीं कर सकता; इसलिए पानी की सुविधा करना, पानी का भंडारण तथा उसके शुद्धीकरण की पद्धतियां, बिजली के  विकल्पों के विषय में जानकारी इस लेख में दे रहे हैं ।

आपातकालमें जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग ९

बाढ, भूकंप जैसी प्राकृतिक आपदाओं में यातायात ठप रहता है । इससे अन्य वस्तुओं के साथ-साथ औषधियां मिलना भी कठिन हो जाता है ।

आपातकालमें जीवनरक्षा हेतु आवश्यक तैयारी : भाग ८

इस लेख में हम अनाज के भंडारण के विषय में समझेंगे । वर्षा ऋतु आरंभ हो जाने के कारण खरीदा हुआ अनाज सुखाया नहीं जा सकता । ऐसी स्थिति में उन्हें खराब होने से बचाने के लिए कुछ अन्य उपाय किए जा सकते हैं ।

आपातकाल में जीवनरक्षा हेतु आवश्यक पूर्वतैयारी : भाग ३

आपातकाल में ऐसी स्थिति निर्माण हो सकती है कि भोजन के लिए ईंधन का अभाव हो, घर में सभी लोग रोगी हों, अचानक अन्य स्थान पर रहना पडे, बाजार में साग-सब्जियां न मिले ।

आपातकाल में जीवनरक्षा हेतु आवश्यक पूर्वतैयारी’ : भाग २

हम कितना भी अनाज संग्रहित कर लें, वह धीरे-धीरे समाप्त होता है । ऐसे समय भूखा न रहना पडे, इसकी पूर्व तैयारी के लिए अनाज का रोपण, गोपालन आदि करना आवश्यक है ।