१५ वर्षों से वैद्यकीय उपचार करने पर भी हाथ पर बने धब्बे न जाना और कर्पूर मिश्रित गोअर्क लगाने से धब्बे पूर्णतः जाना

 ‘मेरे पास आकर सनातन निर्मित सात्त्विक उत्पाद ले जानेवाले लोगों को मैं नमस्कार करता था; परंतु अब सात्त्विक उत्पादों की उपयुक्तता अनुभव करने पर आनेवाले व्यक्ति ही मुझे नमस्कार करते हैं । जलगांव के एक गृहस्थ के हाथ पर धब्बे पडे थे । उन धब्बों को देखकर मैंने उन्हें उन धब्बों के बारे में पूछा । उन्होंने बताया कि जलने के कारण उनके हाथ पर धब्बे पडे हैं । गत १५ वर्षों से उन धब्बों पर वैद्यकीय उपचार चल रहे हैं; परंतु कुछ लाभ नहीं हो रहा । उन्होंने मुझे पूछा कि क्या आपके पास कुछ औषधि है ? इस पर मैंने उन्हें बताया, ‘‘मेरे पास कोई औषधि नहीं है; परंतु आप गोअर्क में कर्पूर मिलाकर वह गोअर्क हाथ पर लगाकर देखिए । संभव हो, तो १ चम्मच गोअर्क पेट में भी ले सकते हैं ।’’ मेरे बताए अनुसार उन्होंने गोअर्क एवं कर्पूर का मिश्रण १ माह तक हाथ पर लगाया और आश्‍चर्य यह कि भगवान की कृपा से उनके हाथ पर पडेे धब्बे पूर्णतः निकल गए ।’ (यह साधक का निजी अनुभव है । इसी प्रकार का अनुभव सभी को होगा ही, ऐसा नहीं है । संपादक, दैनिक सनातन प्रभात)

– श्री. लक्ष्मण शिंदे, जलगांव (७.५.२०१६)

संदर्भ : दैनिक सनातन प्रभात

Donating to Sanatan Sanstha’s extensive work for nation building & protection of Dharma will be considered as

“Satpatre daanam”