३१ दिसंबर पर होनेवाले अनाचार रोकने के लिए सनातन संस्था व हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा जनजागरण !

नववर्ष का स्वागत करने के नाम पर आजकल पाश्‍चात्यों के बढते अंधानुकरण के कारण ३१ दिसंबर की मध्यरात्रि १२ बजे नववर्ष मनाया जाता है । रात को बडे आवाज के पटाखे जलाकर प्रदूषण करना, कर्णकर्कश ध्वनिवर्धक लगाकर फूहड गानों की ताल पर अश्‍लील हाव-भाव करते हुए नाचना, गाली-गलौज करना, लडकियों से छेडछाड करना, नशीले पदार्थों का सेवन आदि कुकृत्य खुलकर किए जाते हैं । अनेक नगरों में रेव पार्टियों और चिल्लर पार्टियों की संख्या बढ रही है । समाज और संस्कृति के लिए यह अत्यंत घातक है ।

भारतीय संस्कृति के अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा को नववर्ष मनाने के प्राकृतिक व आध्यात्मिक लाभ हैं । समाज में इस विषय में जागृति करने हेतु सनातन संस्था व हिन्दू जनजागृति समिति द्वारा चलाई गई मुहिम का संक्षिप्त ब्यौरा पाठकों के लिए यहां दे रहे हैं ।

१. दिल्ली

अ. दक्षिण पूर्व दिल्ली के जिलाधिकारी श्री. बी.एस. जागलान, उत्तर जिला दिल्ली के पुलिस उपायुक्त श्री. जतिन नरवाल, दक्षिण जिला दिल्ली के पुलिस उपायुक्त, दिल्ली के सी.आर. पार्क के पुलिस स्टेशन, अतिरिक्त शिक्षा निदेशक, स्कूल तथा २ विद्यालयों में निवेदन दिए गए ।

आ. संतकृपा प्रतिष्ठान की ओर से अलकनंदा के संतोषी माता मंदिर में प्रवचन लिया गया ।

इ. नववर्ष ३१ दिसंबर को क्यों नहीं, अपितु चैत्र शुक्ल प्रतिपदा (२८ मार्च २०१७) को मनाएं ! इसकी जानकारी देनेवाले दिल्ली व गुरुग्राम (हरियाणा) में कुल १० स्थानों पर फ्लेक्स लगाए गए और पत्रकों का वितरण किया गया ।

विशेष

दिल्ली के बजरंग दल के हिन्दुत्वनिष्ठों ने समिति द्वारा प्रबोधन हेतु बनाए गए १००० पत्रकों का वितरण किया व पत्रक में दी जानकारी के आधार पर स्वयं से ४ विद्यालयों में प्रवचन भी लिया ।

२. हरियाणा

यहां के गुरुग्राम में पुलिस आयुक्त, राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, ३ विद्यालयों और १ कॉलेज में निवेदन दिए गए ।

३. ओडिशा

यहां पोलिस आयुक्त, भुवनेश्‍वर को तथा राऊलकेला के स्थानीय अतिरिक्त जिलाधिकारी को उनके स्वीय सचिव टी. टाटा राव द्वारा ज्ञापन दिया गया । ३१ दिसंबर के अनाचारों के विषय में श्री. राव को दृश्यश्रव्य-चक्रिका भी दिखाई गई । इस अवसर पर क्रियायोग मिशन के अधिवक्ता विभूतीभूषण पलेई, अधिवक्ता रमाकांत सामल, अधिवक्ता प्रभात रंजन बारीक तथा सनातन संस्था व हिन्दू जनजागृति समिति के प्रतिनिधि उपस्थित थे ।

साथ ही, यहां के तीन गावों में प्रबोधन पर प्रवचन लिए गए और तीन महाविद्यालयों में निवेदन दिए गए । ३१ दिसंबर को होनेवाले अनाचारों संबंधी १००० हस्तपत्रकों का वितरण किया गया ।

४. उत्तरप्रदेश

अ. गाजीपुर

यहां के सैदपुर क्षेत्र में धर्माभिमानी तथा हिन्दुत्वनिष्ठ के प्रतिनिधिमंडल ने सैदपुर के उपजिलाधिकारी (SDM) श्री. सत्येंद्र प्रकाश श्रीवास्तव तथा पुलिस अधीक्षक के नाम उनके कार्यालय में पुलिस क्षेत्राधिकारी (Circle officer) श्री. प्रभात कुमार को ज्ञापन दिया । इस मुहिम में धर्मशिक्षा वर्ग में आनेवाले धर्माभिमानी युवक भी सम्मिलित थे ।

आ. वाराणसी

यहां के २ पुलिस थाने, २ प्रशासकीय कॉलेज, ८ महाविद्यालय और ६ विद्यालयों में निवेदन दिए गए । ६ विद्यालय, १५ महाविद्यालयों में और समाज में ३ अलग-अलग स्थानों पर नववर्ष ३१ दिसंबर की रात न मनाते हुए भारतीय संस्कृति अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर मनाने के विषय पर प्रबोधन किया गया ।

इ. नोएडा

यहां के सिटी मजिस्ट्रेट के नाम उनके सचिव को निवेदन दिया गया । तीन स्थानीय पुलिस स्टेशन – सेक्टर २३, कल्याणपुरी थाना व न्यू अशोक नगर थाना में निवेदन दिया गया । ५ पाठशालाओं में निवेदन तथा ३ पाठशालाओं में प्रवचन के माध्यम से प्रबोधन किया गया । ३१ दिसंबर की रात को नववर्ष न मनाने के विषय में जागृति करनेवाले फ्लेक्स पोस्टर्स भी विविध स्थानों पर लगाए गए ।

विशेष

१. कोचिंग इंस्टिट्यूट, नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ एज्यूकेशन एंड सॉफ्टवेर (NIEST) ने अपने विद्यार्थियों के लिए प्रवचनों का आयोजन किया ।

२. ३१ दिसंबर पर होनेवाले अनाचारों को रोकने हेतु लक्ष्मी नगर मेट्रो स्टेशन, देहली के बाहर समिति के कार्यकर्ता श्री. अरविंद गुप्ता तथा अखंड भारत मोर्चा के श्री. दीपक सिंह ने मेट्रो स्टेशन पर आ रहे लोगों को पत्रक वितरण किया ।

५. बिहार

यहां के कुछ पुलिस थानों तथा महाविद्यालयों में निवेदन दिए गए । विद्यालय-महाविद्यालय और समाज में १२ अलग-अलग स्थानों पर नववर्ष ३१ दिसंबर की रात न मनाते हुए भारतीय संस्कृति अनुसार चैत्र शुक्ल प्रतिपदा पर मनाने के विषय पर प्रबोधन किया गया ।

स्रोत : पाक्षिक सनातन प्रभात