‘सनातन डॉट ऑर्ग’ जालस्थल के मलयालम भाषा का तेलंगाना चिलकूर बालाजी मंदिर के मुख्य पुजारी सी. एस. रंगराजन के करकमलों से लोकार्पण

मलयालम भाषी जिज्ञासाओं और धर्मप्रेमियों के लिए शुभ समाचार !

‘सनातन डॉट ऑर्ग’ जालस्थल के मलयालम भाषा का ‘मुखपृष्ठ’

भाग्यनगर (तेलंगाना) – सनातन संस्था के सनातन डॉट ऑर्ग जालस्थल का मलयालम भाषा में लोकार्पण तेलंगाना चिलकूर बालाजी ‘मंदिर के मुख्य पुजारी श्री. सी.एस. रंगराजन के करकमलों द्वारा २८ जून को मंदिरों का नियंत्रण धर्मनिरपेक्ष सरकार के हाथों में क्यों ?’, इस विषय पर ‘ऑनलाइन’ परिसंवाद में संपन्न हुआ । इस ऑनलाइन कार्यक्रम में तमिलनाडु के ‘टेंपल वर्शिपर्स सोसाइटी’ और इंडिक कलेक्टिव के अध्यक्ष श्री. टी.आर.रमेश, मूलतः केरल की; परंतु वर्तमान में दुबई निवासी ‘पीपल फॉर धर्मा’ की अध्यक्षा श्रीमती शिल्पा नायर, सर्वोच्च और कर्नाटक उच्च न्यायालयों के अधिवक्ता किरण बेट्टदापुर और हिन्दू जनजागृति समिति के राष्ट्रीय प्रवक्ता श्री. रमेश शिंदे आदि हिन्दुत्वनिष्ठ सम्मिलित हुए थे ।

१. जिज्ञासुओं को ‘साधना और अध्यात्म’, इस विषय पर अमूल्य और सुलभ मार्गदर्शन मिलने के लिए सनातन संस्था का जालस्थल मराठी, हिन्दी, कन्नड, गुजराती और तमिल इन ५ भारतीय भाषाओं में तथा विदेशी भाषा अंग्रेजी में उपलब्ध है । अब मलयालम भाषा के जिज्ञासुओं को भी यह अमूल्य ज्ञान उपलब्ध होनेवाला है ।

२. जिज्ञासुओं को अध्यात्म का शास्त्रीय भाषा में परिचय करवाना और धर्मशिक्षा देना यह सनातन संस्था का मुख्य उद्देश्य है । इसके साथ ही सनातन संस्था साधकों को व्यक्तिगत साधना के संबंध में मार्गदर्शन कर उन्हें ईश्‍वरप्राप्ति का मार्ग भी दिखाती है । इसके लिए प्रवचन, साप्ताहिक सत्संग, बच्चों के लिए बालसंस्कारवर्ग तथा समाज, राष्ट्र और धर्म के उत्थान के लिए अन्य उपक्रम भी क्रियान्वित करती है । अध्यात्म, आचारधर्म, आयुर्वेद तथा बच्चों और अभिभावकों के लिए मार्गदर्शक ग्रंथ भी सनातन संस्था ने प्रकाशित किए हैं ।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात