रामजन्मभूमि स्थल को समतल करते समय मिलीं मूर्तियां और शिवलिंग !

रामजन्मभूमिपर राम मंदिर नहीं था, ऐसा बोलनेवाले अब अपना मुंह क्यों नहीं खोलते ?

अयोध्या (उत्तर प्रदेश) – यहां के रामजन्म भूमि परिसर में राम मंदिर के निर्माण के उपलक्ष्य में भूमि को समतल करने का काम चल रहा है । इस काम के समय भूमि में विविध देवताओं की खण्डित मूर्तियां, अलग-अलग आकृतियोंवाले तथा कलाकारी किए हुए पत्थर, ७ ब्लैक टच स्तंभ, लाल रेत के पत्थर से बने पत्थर के ६ स्तंभ, पुष्पकलश और ५ फीट आकारवाला कलाकारी किया हुआ शिवलिंग मिला है ।

 

मूर्तियां और शिवलिंग का मिलना, तो हिन्दुओं को तालीबानी
बोलनेवाले मुसलमान पक्षकर्ताओं को उत्तर ! – अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन

रामजन्म भूमि अभियोग में हिन्दू महासभा के अधिवक्ता विष्णु शंकर जैन ने कहा कि सर्वोच्च न्यायालय में रामजन्म भूमि की सुनवाई के समय मुसलमान पक्ष ने हमारे विरुद्ध हिन्दू तालीबानी होने का आरोप लगाया था, साथ ही इस स्थानपर किसी भी प्रकार के मंदिर के अवशेष न मिलने की बात बताई थी । अब मिली हुई मूर्तियां उनके आरोपों का उत्तर है ।

अधिवक्ता जैन ने आगे कहा कि, हमने सर्वोच्च न्यायालय को रामजन्म भूमि परिसर में अनेक मंदिरों के अवशेष होने की बात बताई थी । पुरातत्त्व विभाग को इससे पहले भी खुदाई करते समय एक शिवलिंग मिला था । पुरातत्व विभाग के ब्यौरे में भी इस परिसर में मंदिरों के अनेक अवशेष होने की बात कही थी । बाबरी मस्जिद के नीचे राम मंदिर की बडी रचना थी । हमने सर्वोच्च न्यायालय को जो बताया था, वह कितना सत्य था, यह आज प्राप्त प्रमाणों से प्रमाणित होता है ।

स्त्रोत : दैनिक सनातन प्रभात