भक्तवत्सल श्री विद्याचौडेश्‍वरी के कृपाशीर्वाद से सनातन आश्रम में संपन्न हुआ शतचंडी याग !

सनातन आश्रम में संपन्न हुआ शतचंडी याग !

हिन्दू राष्ट्र स्थापना के कार्य में आ रही सूक्ष्म अनिष्ट शक्ति की बाधाएं दूर करने हेतु, साथ ही आगामी हिन्दू राष्ट्र में सुख-समृद्धि स्थापित होने हेतु हंगरहळ्ळी (कर्नाटक) की श्री विद्याचौडेश्‍वरी की आज्ञा से रामनाथी (गोवा) के भूलोकपर स्थित शिवक्षेत्र में अर्थात ही सनातन के आश्रम में २४ से २८ फरवरी की अवधि में देवी की उपस्थिति में शतचंडी यज्ञ संपन्न हुआ । इस यज्ञ में मठ के प.पू. श्री श्री श्री बालमंजुनाथ महास्वामीजी की वंदनीय उपस्थिति थी ।

श्री श्री श्री बालमंजुनाथ स्वामीजी

सूर्य की भांति चमकनेवाली, चंद्रमा के समान शीतलता से भक्तों को अभय प्रदान करनेवालीं, तारणहार और संकटनिवारिणी श्री विद्याचौडेश्‍वरी का आगम एवं शतचंडी यज्ञ आदि समारोह केवल देवी और केवल देवी के चैतन्य से चमक उठा और उन्होंने साधकों को दर्शन देकर कृपा की भरमार की । इस शतचंडी यज्ञ के उपलक्ष्य में श्री गणपतिपूजन, पुण्याहवाचन, देवता आवाहन आदि विविध विधि शास्त्रोक्त पद्धति से किए गए ।

संदर्भ : दैनिक सनातन प्रभात

facebook.com/sanatan.org