श्रीकृष्णतत्वसे संबंधित रंगोलीकी विशेषताएं एवं पूजाविधिमें अंतर्भूत कृत्योंका शास्त्राधार

 

१. श्रीकृष्णतत्त्वसे संबंधित रंगोली

सनातन हिंदू धर्ममें अनेक त्यौहार हैं । उस दिन वातावरणमें त्यौहारसे संबंधित विशिष्ट देवताका तत्त्व प्रचुर मात्रामें कार्यरत रहता है । इस तत्त्वका लाभ अधिकसे अधिक होने हेतु प्रयास किए जाते हैं । विशिष्ट देवतातत्त्वको आकृष्ट करने हेतु विशिष्ट प्रकारकी रंगोली बनानेसे लाभ होता है । श्रीकृष्ण जन्माष्टमीके दिन श्रीकृष्ण तत्त्वसे संबंधित रंगोली बनाना अत्यंत लाभकारी होता है ।

 

२. श्रीकृष्ण तत्त्वसे संबंधित रंगोली एवं उसकी विशेषताएं

यह रंगोली श्रीकृष्णतत्त्व आकृष्ट करती है । आकृतिमें बताए अनुसार यह रंगोली १३ से ७ क्रमांककी बिंदुओंको जोडकर बनाई जाती है । इससे आनंदकी अनुभूति होती है । श्रीकृष्ण पूर्णावतार हैं, इसलिए उनमें सभी देवताओंके तत्त्व आते हैं । इस कारण श्रीकृष्णतत्त्व आकृष्ट करनेवाली रंगोली किसी भी मंगल कार्यक्रममें बना सकते हैं ।

संदर्भ : सनातन-निर्मित ग्रंथ ‘त्यौहार, धार्मिक उत्सव एवं व्रत’

Leave a Comment

Download ‘गणेश पूजा एवं आरती’ App